(India This Week) Weekly Current Affair (29th January - 04th February 2021)

India This Week Weekly Current Affairs


इण्डिया दिस वीक कार्यक्रम का मक़सद आपको हफ्ते भर की उन अहम ख़बरों से रूबरू करना हैं जो आपकी परीक्षा के लिहाज़ से बेहद ही ज़रूरी है। तो आइये इस सप्ताह की कुछ महत्वपूर्ण ख़बरों के साथ शुरू करते हैं इस हफ़्ते का इण्डिया दिस वीक कार्यक्रम...

न्यूज़ हाईलाइट (News Highlight):

  • पोषण के परिणामों में सुधार के लिए बजट में मिशन पोषण 2.0 की शुरुआत की घोषणा...112 जिलों में पोषण संबंधी परिणामों को बेहतर करने के लिए अपनाई जाएगी एक गहन रणनीति....
  • उद्योग मंथन के तहत आयोजित की जा रही है वेबिनर की एक श्रृखला....किया जा रहा है फार्मा क्षेत्र और इलेक्ट्रॉनिक्स क्षेत्र सहित लगभग 45 पैंतीस क्षेत्रों पर ध्यान केंद्रित.....
  • प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मन की बात में किया....पट्टचित्र का ज़िक्र.....ओडिशा और पश्चिम बंगाल के राज्यों में है काफी प्रचलित...रिपोर्ट में जानिए क्या है पट्टचित्र ...
  • सरकार जल्द प्रस्तुत करेगी....“मेगा इन्वेस्टमेंट टेक्सटाइल्स पार्क योजना......इस यजना से कपड़ा उद्योग बन सकेगा विश्व स्तर पर प्रतिस्पर्धी....
  • चेन्नई में जल्द ही किया जायेगा आर्द्र्भूमि संरक्षण और प्रबंधन के लिए केंद्र स्थापित.....नियामक ढांचे और नीतियों को डिजाइन और कार्यान्वित करने के लिए निभाएगा महत्वपूर्ण भूमिका....
  • Bengaluru में हुई 'एयरो इंडिया शो' की शुरुआत, report में जानिए 'एयरो इंडिया शो' से जुडी ख़ास बातें...
  • भारती एयरटेल बनी 5G सेवा शुरू करने वाली भारत की पहली कंपनी....स्मार्ट सिटीज के विकास में 5G निभा सकती है अहम् भूमिका....
  • एलोन मस्क के नेतृत्व में स्पेसएक्स ने की अंतरिक्ष के लिए अपना पहला नागरिक मिशन लांच करने की घोषणा..... स्पेसएक्स दुनिया की पहली निजी कंपनी..जिसने रॉकेट को पृथ्वी पर वापस लैंड करवाया....

खबरें विस्तार से:

1.

1 फरवरी को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा आम बजट प्रस्तुत किया गया...जिसके अनुसार, पूरक पोषण कार्यक्रम और पोषण अभियान का विलय करते हुए मिशन पोषण 2.0 की शुरुआत की जाएगी....

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट भाषण पेश करते हुए....इस बात पर जोर दिया की पोषक तत्‍वों को बढ़ाने के साथ-साथ इनकी आपूर्ति, पहुंच एवं परिणाम को बेहतर करना ज़रूरी है...जिसके लिए सरकार पूरक पोषण कार्यक्रम और पोषण अभियान का आपस में विलय कर देगी तथा मिशन पोषण 2.0 को लॉन्‍च करेगी...

बतादें सरकार सभी 112 जिलों में पोषण संबंधी परिणामों को बेहतर करने के लिए एक गहन रणनीति अपनाएगी....बजट में महिला और बाल विकास मंत्रालय को आवंटित 24,435 पैंतीस करोड़ रुपये में से सक्षम आंगनवाड़ी और पोषण 2.0 को 20,105 करोड़ रुपये की राशि आवंटित की गयी है....

एक नज़र में मिशन पोषण 2.0

पोषण 2.0 मिशन को पोषण सामग्री में सुधार, वितरण और परिणाम में सुधार के लिए लॉन्च किया जाएगा....यह पोशन अभियान और पूरक पोषण कार्यक्रम का विलय करेगा....यह मिशन 112 ‘एस्पिरेशनल डिस्ट्रिक्ट्स’ में पोषण परिणामों को बेहतर करने के लिए अपनाया गया है...

क्या है मिशन पोषण?

इस मि‍शन की शुरूआत साल 2018 में हुई थी. राष्‍ट्रीय पोषण मिशन नीति आयोग की ओर से तैयार की गई नीति के तहत साल 2022 तक भारत को कुपोषण से मुक्‍त करना है. इस योजना की मदद से अल्‍पपोषण, एनीमिया से पीड़ित बच्‍चे, प्रेगनेंट महि‍ला या किशोर लड़कियों की मदद की जा सकेगी.

2.

उद्योग मंथन के तहत आयोजित वेबिनर फार्मा क्षेत्र और इलेक्ट्रॉनिक्स क्षेत्र सहित लगभग 45 पैंतीस क्षेत्रों पर ध्यान केंद्रित कर रहा है...‘उद्योग मंथन’ के तहत वेबिनार का आयोजन सभी प्रमुख विनिर्माण क्षेत्रों और सेवा क्षेत्र में गुणवत्ता और उत्पादकता पर ध्यान देने के लिए किया जा रहा है....

आगामी वेबिनार में ‘उद्योग मंथन’ विभिन्न क्षेत्रों जैसे फार्मा, क्लोज सर्किट कैमरा, मेडिकल डिवाइस, इलेक्ट्रॉनिक्स सिस्टम डिजाइन और विनिर्माण को कवर करेगा....यह नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा, एयरोस्पेस, रोबोटिक्स और रक्षा पर भी ध्यान केंद्रित करेगा...

यह आगे चलकर सरकारी प्रक्रियाओं की गुणवत्ता पर ध्यान केंद्रित करेगा जो आत्मनिर्भर भारत के विज़न को साकार करने में महत्वपूर्ण सिद्ध होगा...

यह वेबिनार 4 जनवरी, 2021 को शुरू किया गया था और चार सप्ताह के अंतराल पर, विभिन्न क्षेत्रों जैसे खिलौने, चमड़ा, फर्नीचर और ड्रोन पर 18 वेबिनार आयोजित किए गए हैं....इस तरह के वेबिनार उत्पादों की गुणवत्ता और विशिष्ट क्षेत्र में उत्पादकता से संबंधित मुद्दों पर गहराई से प्रकाश डालते हैं....

उद्योग मंथन

यह एक मैराथन है जो क्षेत्र-विशिष्ट वेबिनार पर केंद्रित है। यह वेबिनार भारतीय उद्योग में गुणवत्ता और उत्पादकता को बढ़ावा देने पर केंद्रित है। यह वेबिनार 4 जनवरी, 2021 को शुरू किया गया था और यह 2 मार्च, 2021 को समाप्त होगा...इसमें 45 पैंतालिस सत्र शामिल हैं जिसमे विनिर्माण और सेवाओं के विभिन्न प्रमुख क्षेत्रों को शामिल किया गया है....‘उद्योग मंथन’ चुनौतियों, अवसरों की पहचान करने और समाधान और सर्वोत्तम प्रथाओं को लाने में मदद करेगा....

3.

भारत के हर प्रांत की तरह उड़ीसा की भी संपन्न सांस्कृतिक परंपरा है.....इसमें लोक कला का महत्वपूर्ण स्थान है...पाता या पातचित्र उड़िया लोककला की पहचान है....प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जहाँ जिस भाग्यश्री नामक लड़की की सराहना की उन्हें नरम पत्थरों का उपयोग करके विभिन्न विषयों पर पट्टचित्र बनाने की कला में महारत हासिल है...

क्या है पट्टचित्र

पट्टचित्र शब्द का उपयोग आमतौर पर पारंपरिक, कपड़ा-आधारित स्क्रॉल पेंटिंग के लिए किया जाता है.....यह कला ओडिशा और पश्चिम बंगाल के राज्यों में काफी प्रचलित है...इस कला को जटिल विवरण और उसमें निहित पौराणिक आख्यानों और लोककथाओं के लिए जाना जाता है....यह ओडिशा में एक प्राचीन कला है जो अनुष्ठान के लिए और मंदिरों के लिए तीर्थयात्रियों के लिए स्मृति चिन्ह के रूप में बनाया गया है...ये कला एक प्राचीन बंगाली कथा कला का एक घटक है...पेंटिंग्स में उपयोग किए जाने वाले रंग प्राकृतिक होते हैं और चित्र पुराने पारंपरिक तरीके से चित्रकार द्वारा बनाए जाते हैं...

चित्रों का विषय

ये पेंटिंग हिंदू पौराणिक कथाओं पर आधारित हैं....यह जगन्नाथ और वैष्णव संप्रदाय से अत्यधिक प्रेरित है....इस प्रकार, ओडिया पेंटिंग का विषय भगवान जगन्नाथ और वैष्णव संप्रदाय के आसपास रखा गया है...इन चित्रों की विषय वस्तु पौराणिक, धार्मिक कथाएँ और लोक कथाएँ हैं...देवी-देवताओं की व्यक्तिगत पेंटिंग भी की जाती हैं....पट्टचित्र शैली लोक और शास्त्रीय दोनों तत्वों का मिश्रण है...

बता दे उड़ीसा और पश्चिम बंगाल दोनों राज्यों में अलग-अलग तरीके से पट्टचित्र का भौगोलिक संकेत पंजीकृत है क्योंकि दोनों राज्यों में चित्रों की शैली और रूपांकन अलग-अलग हैं...ओडिशा के पट्टचित्र को उड़ीसा पट्टचित्र के रूप में पंजीकृत किया गया है, जबकि पश्चिम बंगाल को बंगाल पट्टचित्र के रूप में पंजीकृत किया गया है....

4.

“मेगा इन्वेस्टमेंट टेक्सटाइल्स पार्क योजना से कपड़ा उद्योग विश्व स्तर पर प्रतिस्पर्धी बन सकेगा....यह उद्योगों को बड़े निवेश को आकर्षित करने और निर्यात को बढ़ावा देने के अलावा रोजगार सृजन को बढ़ावा देने में मदद करेगा...इस योजना से ‘प्लग एंड प्ले’ सुविधाओं के साथ एक विश्व स्तरीय बुनियादी ढांचा तैयार करने में मदद मिलेगी....MITRA स्कीम को प्रोडक्शन लिंक्ड इंसेंटिव स्कीम (PLI) के अतिरिक्त लॉन्च किया जाएगा...

प्रोडक्शन लिंक्ड इंसेंटिव (पीएलआई) योजना

यह एक केंद्रीय क्षेत्र की योजना है....इस योजना को बड़े पैमाने पर इलेक्ट्रॉनिक्स विनिर्माण के लिए अप्रैल 2020 में अधिसूचित किया गया था...इसे माल के घरेलू विनिर्माण के लिए वित्तीय प्रोत्साहन प्रदान करने के उद्देश्य से अधिसूचित किया गया था....यह योजना बड़े निवेश को आकर्षित करने का प्रयास भी करती है...यह शुरुआत में मोबाइल फोन और निर्दिष्ट इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों के घरेलू विनिर्माण के लिए शुरू की गयी है.... बाद के चरण में, यह दवा सामग्री और चिकित्सा उपकरणों के लिए भी शुरू की गयी थी....

पीएलआई योजना के तहत प्रोत्साहन की पेशकश

यह योजना उन पात्र कंपनियों को 4% से 6% प्रोत्साहन प्रदान करती है जो 5 साल की अवधि के लिए माल का निर्माण कर रही हैं....जो कंपनियाँ भारत में पंजीकृत हैं और माल के निर्माण में शामिल हैं, वे योजना के लक्ष्य सेक्शन के अंतर्गत आती हैं...ये कंपनियां योजना के तहत प्रोत्साहन के लिए पात्र हैं...

भारत में कपड़ा उद्योग

कपड़ा और परिधान उद्योग भारत का सबसे पुराना उद्योग है। इसमें अतुलनीय रोजगार क्षमता की एक अंतर्निहित और अद्वितीय ताकत है....यह क्षेत्र कृषि के बाद सबसे बड़ा नियोक्ता है... यह सीधे तौर पर 4.5 करोड़ लोगों और सम्बंधित क्षेत्र में 6 करोड़ लोगों को रोजगार प्रदान करता है... भारत दुनिया भर में वस्त्रों और कपड़ों का दूसरा सबसे बड़ा निर्माता है.... यह वस्त्र और परिधान का दूसरा सबसे बड़ा निर्यातक भी है....वैश्विक व्यापार में इसकी हिस्सेदारी 5% है...

5.

केंद्र सरकार द्वारा तमिलनाडु के चेन्नई में आर्द्रभूमि संरक्षण और प्रबंधन केंद्र (CWCM) की स्थापना की जाएगी....यह संरक्षण केंद्र सतत तटीय प्रबंधन के लिए राष्ट्रीय केंद्र का एक हिस्सा होगा...यह राष्ट्रीय केंद्र पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय के तहत एक संस्था है....

आर्द्रभूमि संरक्षण व प्रबंधन केंद्र नियामक ढांचे और नीतियों को डिजाइन और कार्यान्वित करने के लिए महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा...यह आर्द्रभूमि के संरक्षण के लिए निगरानी, प्रबंधन योजना और अनुसंधान में भी मदद करेगा...यह संरक्षण केंद्र एक ज्ञान केंद्र के रूप में भी कार्य करेगा....

यह राज्यों या केंद्र शासित प्रदेशों, प्रबंधकों, आर्द्र्भूमि शोधकर्ताओं, चिकित्सकों, नीति-निर्माताओं के बीच विनिमय को सक्षम करेगा...केंद्र प्रासंगिक अंतर्राष्ट्रीय और राष्ट्रीय एजेंसियों के साथ नेटवर्क और साझेदारी बनाने में आगे मदद करेगा...

आर्द्रभूमि क्या हैं?

आर्द्र्भूमि एक विशिष्ट पारिस्थितिकी तंत्र है जो पानी से भर जाता है... वे या तो स्थायी रूप से या मौसमी रूप से पानी से भर जाते हैं... ऐसे पारिस्थितिक तंत्रों में, ऑक्सीजन मुक्त प्रक्रियाएं प्रबल होती हैं। आर्द्र्भूमि जल शोधन, जल भंडारण, कार्बन के प्रसंस्करण और तटरेखा के स्थिरीकरण में मदद करती है....यह पौधों और जानवरों को भी सहायता प्रदान करती है...

भारत में आर्द्रभूमि

भारत में 42 रामसर स्थल हैं जिन्हें अंतर्राष्ट्रीय महत्व की आर्द्रभूमि के रूप में नामित किया गया है....

विश्व आर्द्रभूमि दिवस

आर्द्रभूमि के संरक्षण के लिए 2 फरवरी को विश्व आर्द्रभूमि दिवस के रूप में मनाया जाता है...वर्ष 2021 में इस दिन ने आर्द्र्भूमि पर रामसर कन्वेंशन के हस्ताक्षर की 50वीं वर्षगांठ को चिह्नित किया...इस कन्वेंशन को ईरान के रामसर में वर्ष 1971 में हस्ताक्षरित किया गया था...

6.

बेंगलुरु में शुरू हुए एयरो इंडिया-2021 शो के मौके पर रक्षामंत्री राजनाथ सिंह और रक्षा प्रमुख बिपिन रावत मौजूद रहे....इस शो में आत्मनिर्भर फॉर्मेशन फ्लाइट का प्रदर्शन किया गया....कोरोना के चलते इस बार शो को छोटा करके तीन दिन का कर दिया गया है...

यह एयर शो 5 फरवरी को खत्म होगा. पहले दिन HAL (हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड) के साथ एयरफोर्स का 83 तेजस जेट लेने के लिए कॉन्ट्रैक्ट साइन हुआ...एयरो इंडिया में इस बार तकनीक के मामले में भारत की ताकत दिखाई जा रही है. इस बार सेंट्रल थीम एचएएल (हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड) की रोटरी विंग है...

बता दें एयरो इंडिया में 55 से अधिक देशों के अधिकारी, सर्विस चीफ, प्रतिनिधि, रक्षा मंत्री और 80 विदेशी कंपनी समेत 540 एग्जिबिटर्स ने भाग लिया. वहीं एचएल के साथ 83 तिरासी नए स्वदेशी लाइट कॉम्बैट एयरक्राफ्ट का कॉन्ट्रैक्ट भी हुआ....

वहीँ एचएएल की ‘आत्मनिर्भर फॉर्मेशन फ्लाइट’ में स्वदेशी लड़ाकू विमान तेजस के साथ फिक्स्ड विंग और रोटरी विंग एयरक्राफ्ट ने उड़ान भरी....इसमें एचएएल के बनाए हुए एलसीए ट्रेनर, एचटीटी-40, आईजेटी, अडवांस्ड हॉक एमके -132 और सिविल डोर्नियर-228 एयरक्राफ्ट ने उड़ान भरी...इसके अलावा सुखोई-30 एमकेआई, एडवांस्ड लाइट हेलिकॉप्टर ध्रुव, लाइट कॉम्बेट हेलिकॉप्टर, लाइट यूटिलिटी हेलिकॉप्टर ने भी एयरशो में दम दिखाया....

यह एयरो इंडिया शो 5 फरवरी तक चलेगा....बतादें रक्षा मंत्रालय का यह एयरो इंडिया शो दो साल में एक बार होता है...यह एशिया का सबसे बड़ा एयर शो है. इसमें एविएशन सेक्टर के मैन्युफैक्चरिंग कंपनी से लेकर भारत की एयरफोर्स से लेकर दुनिया के कई देशों की एयरफोर्स के प्रतिनिधि भी रहते हैं. एयरो इंडिया शो की शुरुआत साल 1996 छियानवे में हुई थी...

7.

भारती एयरटेल 5G सेवा शुरू करने वाली देश की पहली कंपनी बन गई है...बतादें एयरटेल ने भारत में 5G नेटवर्क के लिए एरिक्शन (Ericsson) के साथ साझेदारी की है.....भारती एयरटेल इस 5G सेवा के लिए अपने मौजूदा लिबरलाइज्‍ड स्पेक्ट्रम को 1800 मेगाहर्ट्ज बैंड में एनएसए नेटवर्क की तकनीक का उपयोग किया गया है....

हालांकि आम ग्राहकों के लिए अभी यह 5G सेवा उपलब्ध नहीं होगी, आम ग्राहकों को यह सेवा तब उपलब्ध होगी, जब पर्याप्त स्पेक्ट्रम उपलब्ध होगा और सरकार की मंजूरी मिल जाएगी....

5G तकनीक क्या है?

5 G संचार क्रांति की पांचवीं पीढ़ी को सम्बोधित करता है और यह एलटीई (लॉन्ग टर्म इवोल्यूशन) मोबाइल ब्रॉडबैंड नेटवर्क में नवीनतम अपग्रेड है....इसे डाटा ट्रांसफर करने का अब तक का सबसे कुशल, तेज़ और सुरक्षित तरीका माना जा रहा है....फिलहाल भारत में 4G मोबाइल कम्युनिकेशन तकनीक का इस्तेमाल किया जा रहा है। तेज़ रफ़्तार डाटा ट्रांसफर और कम लेटेंसी होने के कारण 5G अपनी पिछली पीढ़ियों से काफी बेहतर होगा....

डाटा के समूह को सेन्डर से रिसीवर तक पहुंचने वाले समय को नेटवर्क लेटेंसी कहते है। यहाँ सेन्डर यानी डाटा भेजने वाला व्यक्ति या डिवाइस है अथवा रिसीवर डाटा को प्राप्त करने वाला व्यक्ति या डिवाइस होता है....

4G नेटवर्क की अधिकतम स्पीड अब तक 45 पैंतालिस मेगाबिट प्रति सेकेंड रिकॉर्ड की गई है....5G में यह स्पीड एक गीगाबिट प्रति सेकेंड तक पहुंच जाएगी....मोटे तौर पर कहें तो 5G के आने पर हमारे मोबाइल फोन में इंटरनेट 20 गुना तेज से चलने लगेगा....दुसरे शब्दों में जहाँ 4G 45 पैंतालिस mbps की अधिकतम स्पीड देता है वहीं 5G लगभग 1Gbps की स्पीड देगा.....

5G तकनीक के अनुप्रोग

तेज़ इंटरनेट स्पीड और कम लेटेंसी के होने के कारण यह सर्वर रहित ऍप्लिकेशन्स , रिमोट कण्ट्रोल सर्जरी , कनेक्टेड स्मार्ट सिटीज में भी उपयोगी साबित होगा....5G से जुड़ने वाली Devices की संख्या कई गुना बढ़ जाएगी.....इंटरनेट ऑफ़ थिंग्स (IOT) के ज़रिये लोगों की रोजमर्रा के काम आसान हो जाएंगे.....तेज़ रफ़्तार डाटा ट्रांसफर के साथ ऑनलाइन प्लेटफार्म पर वीडियोस स्ट्रीम करना और आसान हो जाएगा जिस से ऑनलाइन लर्निंग जैसे प्लेटफॉर्म्स को बढ़ावा मिलेगा....स्मार्ट सिटीज के विकास में 5G अहम् भूमिका निभा सकता है...ऑटोमेटेड व्हीकल और ऑटोमेशन इंडस्ट्री में 5G काफी मददगार साबित होगा....

8.

मिशन Inspiration4 नाम चार लोगों के क्रू मिशन को मान्यता देता है जो सेंट जूड चिल्ड्रन रिसर्च हॉस्पिटल के लिए समर्थन को प्रेरित करता है.....यह संभावना का मानवीय संदेश भेजने का प्रयास भी करेगा....

जूडस का उद्देश्य अनुसंधान प्रगति में तेजी लाना और दुनिया भर में बच्चों को बचाना है....स्पेसएक्स द्वारा फाल्कन 9 लॉन्च वाहन पर Inspiration4 चालक दल को व्यावसायिक अंतरिक्ष यात्री प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा....

उन्हें कक्षीय यांत्रिकी, शून्य गुरुत्वाकर्षण, सूक्ष्म गुरुत्वाकर्षण में संचालन और अन्य तनाव परीक्षण भी दिया जाएगा....यह मिशन हर 90 मिनट में एक अनुकूलित उड़ान पथ के साथ पृथ्वी की परिक्रमा करेगा....

एक नज़र स्पेसएक्स पर

यह एक अमेरिकी एयरोस्पेस निर्माता और अंतरिक्ष परिवहन सेवा कंपनी है....इसका मुख्यालय कैलिफोर्निया के हॉथोर्न में है...इसकी स्थापना वर्ष 2002 में एलोन मस्क ने की थी....स्पेसएक्स दुनिया की पहली निजी कंपनी थी जिसने रॉकेट को पृथ्वी पर वापस लैंड करवाया...आमतौर पर उपग्रहों को उनकी कक्षा में स्थापित करने के बाद रॉकेट जल जाते हैं या अंतरिक्ष में फेंक दिए जाते हैं.....स्पेसएक्स अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन तक कार्गो पहुंचाने में सक्रिय रूप से शामिल है.....

क्या है स्पेसएक्स ड्रैगन

इसे ड्रैगन 1 या कार्गो ड्रैगन के नाम से भी जाना जाता है....यह SpaceX द्वारा विकसित एक रीयूजेबल कार्गो अंतरिक्ष यान है...ड्रैगन 1 अंतरिक्ष यान को फाल्कन 9 लॉन्च वाहन द्वारा कक्षा में लॉन्च किया गया था ताकि अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन (आईएसएस) को फिर से आपूर्ति की जा सके...

तो ये थी पिछली सप्ताह की कुछ महत्वपूर्ण ख़बरें...आइये अब आपको लिए चलते हैं इस कार्यक्रम के बेहद ही ख़ास सेगमेंट यानी इंडिया राउंडअप में.... जहां आपको मिलेंगी हफ्ते भर की कुछ और ज़रूरी ख़बरें, वो भी फटाफट अंदाज़ में...

फटाफट न्यूज़ (India Roundup):

1. कलिवेली आर्द्र्भूमि को पक्षी अभयारण्य बनाने के प्रयास

..राज्य सरकार द्वारा कलिवेली आर्द्र्भूमि को पक्षी अभयारण्य बनाने के प्रयासों के कारण कलिवेली खबरों में है.... आर्द्र्भूमि के साथ कलिवेली झील तमिलनाडु के विलुप्पुरम जिले में स्थित है...विलुपूरम जिला प्रशासन ने कलिवेली आर्द्र्भूमि को पक्षी अभयारण्य घोषित करने के उद्देश्य से वन्यजीव संरक्षण अधिनियम 1972 बहत्तर के तहत पहली घोषणा जारी की है....पुलीकट झील के बाद कलिवेली दक्षिण भारत की दूसरी सबसे बड़ी खारे पानी की झील है...यह घोषणा जिला प्रशासन द्वारा वन्यजीव संरक्षण अधिनियम, 1972 बहत्तर की धारा 18 के तहत जारी की गई है.....

2. बजट 2021-22 में कृषि क्षेत्र के लिए ऋण को बढ़ाकर 16.5 लाख करोड़ रुपये करने का लक्ष्य

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट 2021-22 में कृषि क्षेत्र के लिए ऋण को बढ़ाकर 16.5 लाख करोड़ रुपये करने का लक्ष्य रखा है. बकौल सीतारमण एमएसपी व्यवस्था में काफी बदलाव हुआ है. बजट में सरकार ने पशुपालन, डेयरी और मछली पालन से जुड़े किसानों की आमदनी बढ़ाने पर फोकस किया है. साल 2020-21 के लिए 15 लाख करोड़ रुपये का कृषि ऋण का लक्ष्य रखा गया था.

3. 30 जनवरी विश्व कुष्ठ रोग दिवस मनाया जाता है

हर साल विश्व कुष्ठ दिवस 30 जनवरी को मनाया जाता है.....यह दिवस शीघ्रातिशीघ्र रोग उन्मूलन/निवारण के लिए प्रयास बढ़ाने और प्रतिबद्धता नवीकृत करने का अवसर प्रदान करता है....यह बच्चों में कुष्ठ रोग से संबंधित विकलांगों के शून्य मामलों के लक्ष्य पर केंद्रित है...

4. हाल ही में आयशा अजीज भारत की सबसे कम उम्र की महिला पायलट बनीं

जम्मू-कश्मीर की रहने वालीं आयशा अजीज देश की सबसे कम उम्र की महिला पायलट बनी हैं. आयशा 25 साल की उम्र में पायलट बन गई हैं. आयशा अजीज साल 2011 में सबसे कम उम्र में स्टूडेंट पायलट का लाइसेंस पाने वाली छात्रा बनी थीं, उस समय आयशा 15 साल की थीं. इसके बाद उन्होंने रूस के सोकोल एयरबेस में मिग-29 उड़ाने के लिए ट्रेनिंग ली. फिर आयशा ने बॉम्बे फ्लाइंग क्लब से विमानन में ग्रेजुएशन की डिग्री हासिल की और 2017 में उन्हें कमर्शियल पायलट का लाइसेंस मिल गया.

5. पंजाब के मुख्यमंत्री ने ‘हर घर पानी, हर घर सफाई’ मिशन लांच किया

हाल ही में पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने ‘हर घर पानी, हर घर सफाई’ मिशन लांच किया है. यह मिशन 2022 तक सभी ग्रामीण घरों में 100 प्रतिशत पाइप से जलापूर्ति के लक्ष्य को पूरा करने के सरकार के अभियान का हिस्सा है. इस योजना से अमृतसर, तरनतारन और गुरदासपुर जिलों के 155 गाँवों के 6 लाख निवासियों को लाभ होगा. यह योजना आर्सेनिक प्रभावित बस्तियों की समस्या को हल करेगी. इस योजना को विश्व बैंक, नाबार्ड, भारत सरकार के जल जीवन मिशन और राज्य बजट द्वारा वित्त पोषित किया जा रहा है.

6. नासा ने भारतीय-अमेरिकी महिला भव्या लाल को कार्यकारी प्रमुख नियुक्त

भव्या लाल को अमेरिकी स्पेस एजेंसी नासा का कार्यकारी प्रमुख बनाया गया है. भव्या लाल अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडेन की टीम का हिस्सा हैं और वह एजेंसी में परिवर्तन का काम देख रही हैं. भव्या इससे पहले इंस्टीटयूट फॉर डिफेन्स एनालिसिस साइंस एंड टेक्नोलॉजी पालिसी इंस्टीटयूट में रिसर्च स्टाफ के रूप में भी काम कर चुकी हैं. भव्या के पास इंजीनियरिंग एवं स्पेस टेक्नोलॉजी का व्यापक अनुभव है.

7. केंद्र सरकार ने बीमा में एफडीआई की सीमा को 49 % से बढ़ाकर 74 % कर

केंद्र सरकार ने बीमा में एफडीआई की सीमा को 49 उनचास प्रतिशत से बढ़ाकर 74 चौहत्तर प्रतिशत कर दिया है. इस कदम का उद्देश्य विदेशी कंपनियों को निवेश के लिए आकर्षित करना है. साथ ही रक्षोपाय के साथ विदेशी भागीदारी तथा नियंत्रण की अनुमति के लिए बीमा अधिनियम-1938 अड़तीस में संशोधन का प्रस्ताव किया...

8. आरबीआई ने महाराष्ट्र में स्थित शिवम सहकारी बैंक का लाइसेंस रद्द कर दिया

भारतीय रिजर्व बैंक ने महाराष्ट्र के कोल्हापुर स्थित शिवम सहकारी बैंक का लाइसेंस रद्द कर दिया है. आरबीआई ने कहा कि शिवम सहकारी बैंक के पास न तो पर्याप्त पूंजी है और न ही भविष्य में कमाई की संभावना है. इस वजह से बैंक का लाइसेंस तत्काल प्राभव से कैंसिल कर दिया गया है. इस वजह से बैंक 29 जनवरी 2021 से किसी तरह का वित्तीय लेनदेन या कोई बैंकिंग कोरबार नहीं कर सकेगी.

9. अमेरिका में बाइडेन प्रशासन ने तारक शाह को चीफ ऑफ स्टाफ के पद पर नियुक्त किया

अमेरिका में बाइडेन प्रशासन ने ऊर्जा विभाग में अहम पदों पर चार भारतवंशियों को नियुक्त किया है....प्रशासन ने चीफ ऑफ स्टाफ के पद पर तारक शाह को नियुक्त किया है....शाह इस पद पर पहुंचने वाले भारतीय मूल के पहले अमेरिकी बन गये हैं...तान्या दास को विज्ञान से जुड़े मामलों के विभाग 'ऑफिस ऑफ साइंस' की चीफ ऑफ स्टाफ बनाया गया है, नारायण सुब्रमण्यम 'ऑफिस ऑफ जनरल काउंसेल' में विधिक सलाहकार के पद पर नियुक्त हुए हैं और शुचि तलाती जीवाश्म ऊर्जा से संबंधित विभाग 'ऑफिस ऑफ फॉसिल एनर्जी' में चीफ ऑफ स्टाफ नियुक्त की गई हैं.

10. Oxford Languages ने आत्मनिर्भरता' को 2020 का हिंदी भाषा का शब्द घोषित किया है

ऑक्सफोर्ड लैंग्विजेज ने ‘आत्मनिर्भरता' को 2020 का हिंदी भाषा का शब्द घोषित किया है. यह शब्द भाषा विशेषज्ञों कृतिका अग्रवाल, पूनम निगम सहाय और इमोगन फॉक्सेल के एक सलाहकार पैनल की ओर से चुना गया है. बता दें इससे पहले 2017 में ‘आधार', 2018 में ‘नारी शक्ति' और 2019 में ‘संविधान' को ऑक्सफोर्ड ने हिंदी भाषा का शब्द चुना था...

11. गोबरधन’ योजना की प्रगति की मॉनिटरिंग के लिए एकीकृत वेब पोर्टल लॉन्च किया

कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत, जल राज्य मंत्री रतन लाल कटारिया, पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान, पशुपालन मंत्री गिरिराज सिंह ने संयुक्त रूप से एक एकीकृत वेब पोर्टल लॉन्च किया है...इस वेब पोर्टल का उपयोग भारत में ‘गोबरधन’ गतिविधियों की प्रगति की निगरानी के लिए किया जाएगा....यह स्वच्छ भारत मिशन चरण-2 का एक महत्वपूर्ण घटक है...इस मिशन का उपयोग कार्बनिक ठोस अपशिष्ट प्रबंधन के लिए किया जा रहा है...स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) के चरण 2 में उल्लिखित खुले में शौच मुक्त प्लस लक्ष्य गोबर्धन योजना के प्रदर्शन पर निर्भर है...यह पहल ठोस अपशिष्ट प्रबंधन चुनौती को संबोधित करेगी और आजीविका के अवसरों को भी बढ़ाएगी.....इसके अलावा, यह योजना ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले लोगों और किसानों की घरेलू आय में वृद्धि करेगी...यह पहल मवेशियों के गोबर और अन्य जैविक कचरे के प्रबंधन के लिए प्रभावी रूप से गांवों का समर्थन करेगी....यह योजना पेयजल और स्वच्छता मंत्रालय द्वारा शुरू की गई थी....यह योजना स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) का हिस्सा है....

तो इस सप्ताह के इण्डिया दिस वीक कर्यक्रम में इतना ही। परीक्षा के लिहाज़ से ज़रूरी और भी तमाम महत्वपूर्ण ख़बरों के लिए सब्सक्राइब कीजिए हमारे यूट्यूब चैनल ध्येय IAS को। नमस्कार।