(Video) राज्य सभा टीवी विशेष Rajya Sabha TV (RSTV) Vishesh: पशु गणना - 2019 (Livestock Census 2019)


(Video) राज्य सभा टीवी विशेष Rajya Sabha TV (RSTV) Vishesh: पशु गणना - 2019 (Livestock Census 2019)


विषय (Topic): पशु गणना - 2019 (Livestock Census 2019)

विषय विवरण (Topic Description):

चिन काल से ही मानवीय सभ्यता के विकास में पशुओं का बहुत ही महत्वपूर्ण योगदान रहा है। साल दर साल समय बदलता गया और सभ्यता के विकास में भी सदियों से बदलाव होता गया। लकड़ी के घूमते पहिओं ने बड़े भारी भरकम विमानों का रूप ले लिया... इसके बावजूद बैल-गाड़ी, घोड़ा-गाड़ी और अन्य पशुओं का महत्व आज भी ज्यों का त्यों बना हुआ है। आधुनिकीकरण के वर्तमान युग में भी हम दूध-दही, मक्खन, पनीर, गोश्त, अंडे और ऊन जैसी भौतिक वस्तुओं के लिए पशुओं पर ही निर्भर हैं। वास्तविकता तो ये है कि अगर पशुपालन न किया जाए और पशुधन को संभाल के न रखा जाए.. तो हमारी खाद्य व्यवस्था ही डगमगा जाएगी । क्योंकि बढ़ते पर्यावरण प्रदूषण और प्राकृतिक आपदाओं जैसे आकाल, बाढ़ आदि में पशुधन ही आर्थिक संकट से निकलने का सबसे सस्ता और सरल समाधान है। ये कृषी के साथ आसानी से किया जा सकता है इसीलिए इन पर खर्चा भी काफी कम आता है। पशुधन कृषि के साथ ही किसानों के आर्थित हालात को संभालने का एक अच्छा सहारा है। यही वजह है कि सरकार पशुधन के महत्व को स्वीकार करते हुए हर पांच साल बाद राष्ट्रीय स्तर पर उनकी गणना करवाती है। इससे न केवल पशुधन की स्थिति का पता चलता है बल्कि उनके लिए नीति बनाने और उसे क्रियान्वित करने में भी मदद मिलती है। मत्स्यपालन, पशुपालन और डेयरी मंत्रालय ने 20वीं पशुधन गणना से जुड़े आंकड़ों को जारी कर दिया है।

Click Here for RSTV The Big Picture

पुरालेख (Archive) के लिए यहां क्लिक करें Click Here for Archive

Courtesy: RSTV