(डाउनलोड) यूपीपीएससी सहायक वन संरक्षक/क्षेत्रीय वन अधिकारी मुख्य परीक्षा वैकल्पिक विषय "पशुपालन एवं पशु चिकित्सा विज्ञान" पाठ्यक्रम हिंदी में (Download) UPPSC ACF, RFO Mains Optional Subject "Animal Husbandry and Veterinary Science" Exam Syllabus in Hindi


(डाउनलोड) यूपीपीएससी सहायक वन संरक्षक/क्षेत्रीय वन अधिकारी मुख्य परीक्षा वैकल्पिक विषय "पशुपालन एवं पशु चिकित्सा विज्ञान" पाठ्यक्रम हिंदी में (Download) UPPSC ACF, RFO Mains Optional Subject "Animal Husbandry and Veterinary Science" Exam Syllabus in Hindi


:: प्रश्न पत्र - 1 (Paper - I) ::

खण्ड-क (Section - A)

पशुधन व्यवसाय- इसके अवसर एवं सम्भावनायें। जंगली जानवरों के सन्दर्भ में मानव जनसंख्या। जंगली जानवरों का महत्व।

अनुवांशिकी एवं पशु प्रजनन-

पशु अनुवांशिकी-

  • मेण्डेलियन वंशागति, जीन अभिव्यक्ति, सहलग्नता एवं विनियम प्रभावित एवं लिंग समेयित लक्षण
  • गुणसूत्र विपंथन
  • जीन संरचना
  • डी0एन0ए0 एवं अनुवांशिक द्रव्य
  • पुनः संयोजित डी0एन0ए0 तकनीकी
  • उत्परिवर्तन
  • मात्रात्मक प्रति बनाम गुणात्मक लक्षण
  • जीन आवृत्ति को परिवर्तित करने वाले कारक
  • पशु प्रजनन

प्रजनन पद्धति - अंतः प्रजनन, बाह्य प्रजनन, क्रमोन्नति, प्रसंकरण संकरण तथा भिन्न संकरण, चयन एवं उससे सम्बन्धित लाभ, विभिन्न प्रकार के पशुओं का अनुवांशिक सुधार- गोधन, भैंस, भेड़, बकरी, सूकर, घोड़े, मुर्गी एवं जंगली जानवर।

  • पर्यावर्णीय अनुकूलन
  • जानवरों में तापीय संतुलन
  • जानवरों पर मौसम का प्रत्यक्ष और परोक्ष प्रभाव
  • शरीर से पानी का ह्रास
  • वृद्धिदर, शरीर भार प्रकाश संवेदी व्यतिक्रम

खण्ड-ब (Section - B)

पशु रोग -

प्रतिरक्षा एवं टीकाकरण - विशिष्ट रोगों के प्रति पशुओं के प्रतिरक्षण हेतु सिद्धान्त एवं विधियां, झुण्ड प्रतिरक्षा, रोग रहित क्षेत्र, शून्य रोग परिकल्पना।

गाय, भैंस, भेड़, बकरी एवं जंगली जानवरों के रोग - निम्न रोगों के कारण, लक्षण, पहचान, निदान, रोकथाम तथा चिकित्साः जहरी बुखार, गला घोंटू, लगड़िया, थनैला, तपेदिक, जोन्स बिमारी, खुरपका एवं मुहपका, पोकनी, रेबीज, सर्रा, दुग्ध ज्वर एवं अफरा नवजात बछड़ों की बीमारी।

कुक्कुट रोग- रानी खेत, कुक्कुट शीतला रोग, पक्षियों का श्वेतरक्ताणु जटिलता रोग, मैरक्स रोग एवं गमबोरों रोग का कारण, लक्षण, निदान, रोकथाम तथा चिकित्सा।

श्वान रोग- श्वान डिस्टेम्पर, पार्वीरोग, रेबीज, तथा मानव स्वास्थ्य से सम्बन्ध।

पशु लोक स्वास्थ- जुनीसिस एवं जुनीटिक रोग

पशु चिकित्सा धर्मशास्त्र- पशु रोग के रोकथाम तथा पशु के गुणों को सुधारने के लिए नियम एवं अधिनियम।

पशु चिकित्सा - विधिक परीक्षण हेतु नमूना लेने के लिए सामग्री तथा विधियाँ।

प्रसार- प्रसार के सिद्धान्त

ग्रामीण किसानों को शिक्षित करने की विभिन्न विधियां।

तकनीक का निर्माण- उसका स्थानान्तरण एवं पुनः मूल्यांकन, नयी तकनीक के स्थानान्तरण में समस्यायें एवं बाधायें।

:: प्रश्न पत्र - 2 (Paper - II) ::

खण्ड-क (Section - A)

पशु पोषण-

सामान्य पोषण विचारधारा

उर्जा एवं प्रोटीन पोषण

खनिज एवं विटामिन पोषण

हारमोन्स एवं खाद्य योगिकी

खाद्य पदार्थों का मूल्यांकन

जुगाली एवं जुगाली न करने वाले पशुओं का पोषण, विभिन्न प्रकार के जानवरों के पोषक तत्वों की आवश्यकताओं की पूर्ति, विभिन्न प्रकार के पशुओं में पोषक तत्वों का पाचन, उपापचयन एवं अवशोषण, चराई की आदतें एवं खाद्य अन्तः ग्रहण।

पशु शरीर क्रिया विज्ञान- पशु शरीर क्रिया विधि एवं पशुधन उत्पादन, वृद्धि दर एवं पशु उत्पादन, नाड़ी एवं हारमोन नियंत्रक विधि, विभिन्न प्रकार के पशुओं एवं जंगली जानवरों के पाचन तंत्रों की शारीरिक क्रिया। प्रजनन, दुग्ध स्राव एवं अण्डा देने की शारीरिक क्रिया, वीर्य के गुण, संरक्षण तथा कृत्रिम गर्भाधान।

खण्ड-ब (Section - B)

पशु उत्पादन एवं प्रबन्ध- विभिन्न वर्गों के पशु के रखरखाव एवं प्रबन्धन- गोवंश, भैंस, बकरी, भेड़, सूकर, कुक्कुट, जंगली जानवरों का रख रखाव एवं प्रबन्धन, पशु एवं जंगली जानवरों का सूखे, बाढ़ एवं प्राकृतिक आपदाओं में खिलाई पिलाई एवं प्रबन्धन। पशु धन एवं उनसे उत्पन्न पदार्थों का वर्गीकरण, श्रेणीकरण एवं विपणन जंगली जानवरों को वश में करने के लिये प्रशान्तक का प्रयोग।

दुग्ध एवं दुग्ध पदार्थ- दुग्ध- कच्चे दूध का एकत्रीकरण, यातायात व्यवस्था एवं गुणवत्ता परीक्षण, दूध का पाश्चुरीकरण, मानकीकरण एवं सामग्रीकरण, पुनर्निर्मित एवं पुनर्संयोजित दूध।

दुग्ध प्रौद्योगिकी- दुग्ध उत्पादक जैसे मक्खन, घी, खोआ, छैना, चीज, सघनित, शुष्क दूध, आइस्क्रीम, योजहटी, दही एवं श्रीखण्ड का उत्पादन, प्रसंस्करण, भण्डारण, वितरण एवं विपणन तथा उनका परीक्षण एवं श्रेणीकरण, विभिन्न दुग्ध पदार्थ का बी0आई0एस0 विशिष्टकरण, विधिक मानक, गुण नियंत्रण एवं पोषणिक गुण-

दुग्ध उपजात प्रौद्योगिकी- छाछ उत्पाद, छाछ, दुग्ध शर्करा एवं केसीन।

<< मुख्य पृष्ठ पर वापस जाने के लिये यहां क्लिक करें




ई-मेल के माध्यम से दैनिक ध्येय IAS हिंदी वेबसाइट की अपडेट प्राप्त करें।

ई-मेल आईडी

सदस्यता के बाद पुष्टि लिंक सक्रिय करने के लिए अपने ईमेल की जांच करें