देश की पहली "डिजीटल जस्टिस क्लॉक" (Country's first "Digital Justice Clock") : डेली करेंट अफेयर्स

हाल ही में गुजरात हाईकोर्ट में भारत के पहले डिजीटल जस्टिस क्लॉक ( Digital Justice clock) का उद्घाटन किया गया है। सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश जस्टिस डी वाई चंद्रचूड़ ने सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश जस्टिस एम आर शाह व जस्टिस बेला त्रिवेदी के साथ-साथ गुजरात उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश अरविंद कुमार की उपस्थिति में इसका लोकार्पण किया।

हाल के समय में राज्य की अदालतों में भी ई-सुविधा का दायरा बढ़ा है, जिसमें ई-कोर्ट फीस समेत अन्य सेवाएं ऑनलाइन डिजिटाइजेशन से उपलब्ध हैं। इसके चलते जस्टिस डिलीवरी सिस्टम और आसान बना है।

Kunal Kamra and Contempt Proceeding : Daily Current Affairs ...

जस्टिस डिलीवरी सिस्टम के अनुभव को और अच्छा बनाने के लिए प्रौद्योगिकी और मानव हस्तक्षेप ( technology and human intervention) के उपयोग के बीच एक स्वस्थ संतुलन होना चाहिए । टेक्नोलॉजी किसी भी प्रकार के परिवर्तन का बहुत सशक्त माध्यम है और न्याय प्रणाली को मजबूत बनाने के लिए उसका इस्तेमाल किया जाना बहुत आवश्यक है।

इसके साथ ही गुजरात हाई कोर्ट के वेबसाइट के इलेक्ट्रॉनिक वर्जन को भी लांच किया गया है। और गुजरात राज्य की सभी अदालतों में e-court fees system को भी लांच किया गया है। इस प्रकार गुजरात हाई कोर्ट देश का पहला उच्च न्यायालय बन गया है जहां पर जस्टिस क्लॉक को लांच किया गया है।

जस्टिस क्लॉक से मतलब उच्च न्यायालय और राज्य के अन्य अदालतों के परिसरों ( premises) के भीतर एक आउटडोर डिस्प्ले एलइडी वॉल ( Outdoor display LED Wall ) लगाने से है जिसमें लंबित मामलों के निपटान की जानकारी लगातार दर्शाई जाती रहेगी।

सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ ने 17 जनवरी को न्याय वितरण प्रणाली के अनुभव को बढ़ाने के लिए प्रौद्योगिकी के उपयोग और मानवीय हस्तक्षेप के बीच एक स्वस्थ संतुलन का आह्वान किया।

न्यायमूर्ति चंद्रचूड़ ने गुजरात हाई कोर्ट में राज्य की सभी अदालतों के लिए एक ई-कोर्ट फीस प्रणाली के साथ स्थापित एक न्याय घड़ी (जस्टिस क्लॉक) का वर्चुअल उद्घाटन करने के बाद वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से इस पर अपना विचार प्रकट किया।