यूपीएससी और सभी राज्य लोक सेवा आयोग परीक्षाओं के लिए हिंदी में डेली करेंट अफेयर्स (25 सितंबर 2020)

Daily Current Affairs for UPSC, IAS, UPPSC/UPPCS, BPSC, MPPSC, RPSC and All State PCS Examinations


यूपीएससी और सभी राज्य लोक सेवा आयोग परीक्षाओं के लिए हिंदी में डेली करेंट अफेयर्स

Daily Hindi Current Affairs for UPSC, IAS, UPPSC/UPPCS, BPSC, MPPSC, RPSC and All State PCS Examinations


सेंट्रलाइज्ड फार्म मशीनरी परफॉर्मेंस टेस्टिंग पोर्टल

चर्चा में क्यों?

  • हाल ही में केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने आम लोगों के लिए ‘सेंट्रलाइज्ड फार्म मशीनरी परफॉर्मेंस टेस्टिंग पोर्टल’( Centralized Farm Machinery Performance Testing Portal) लॉन्च किया है।

केंद्रीकृत कृषि मशीनरी परीक्षण पोर्टल

  • केंद्रीकृत कृषि मशीनरी परीक्षण पोर्टल या सेंट्रलाइज्ड फार्म मशीनरी परफॉर्मेंस टेस्टिंग पोर्टल को कृषि, सहकारिता और किसान कल्याण विभाग द्वारा कृषि मशीनरी परीक्षण संस्थानों की सेवाओं में सुधार और मशीनों के परीक्षण और मूल्यांकन की पूरी प्रक्रिया में पारदर्शिता लाने के लिए एक कदम के रूप में विकसित किया गया है।
  • यह पोर्टल निर्बाध तरीके से कृषि मशीनों के परीक्षण की प्रगति के लिए आवदेन करने, संप्रेषण और निगरानी करने में विनिर्माताओं को सुविधा प्रदान करेगा, क्योंकि इस पर किसी भी लोकेशन से और इंटरनेट से जुड़ी किसी भी डिवाइस से आसानी से पहुंचा जा सकता है।
  • यह संगठन के भीतर एकीकृत तरीके से समेकित प्रबंधन की संभावना प्रदान करेगा और इस प्रकार परीक्षण संस्थानों की दक्षता में सुधार लाने में मदद करेगा जिससे विभिन्न कृषि मशीनों और उपकरणों के परीक्षण समय को कम किया जा सकेगा।

लाभ

यह पोर्टल प्रयोक्ताओं अर्थात विनिर्माताओं को निम्नलिखित लाभ प्रदान करेगा-

  • सरकार की “ईज ऑफ डूइंग” नीति की तर्ज पर यह ऑनलाइन मशीनरी के परीक्षण हेतु अप्लाई करने हेतु सुविधा प्रदान करेगा।
  • समग्र परीक्षण प्रक्रियाओं में पारदर्शिता को सुनिश्चित करेगा।
  • फीडबैक तेजी से प्राप्त होगी।
  • परीक्षण समय में कमी आएगी।
  • कृषि विनिर्माताओं के बिजनेस खर्चे में कमी आएगी।
  • परीक्षण दक्षता में सुधार होगा।
  • परीक्षण में पूर्णता आएगी।
  • मंत्रालय के संबंधित अधिकारी और विनिर्माता इंटरनेट पहुंच से किसी भी स्थान से परीक्षण गतिविधियों को मॉनिटर कर पायेंगे।

फिट इंडिया मूवमेंट

चर्चा में क्यों?

  • हाल ही में फिट इंडिया मूवमेंट(Fit India Movement) की पहली वर्षगांठ मनायी गयी। इस अवसर भारतीय प्रधानमंत्री ने फ़िट्नेस के भिन्न-भिन्न आयामों के बारे में अपने अनुभव शेयर किये।

FIT India Movement : Urged People to Stay Healthy - Current Affair ...

फिट इंडिया मूवमेंट

  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 29 अगस्त,2019 को राष्ट्रीय खेल दिवस के अवसर पर नई दिल्ली के इंदिरा गांधी इंडोर स्टेडियम से फिट इंडिया मूवमेंट या अभियान की शुरुआत की थी।
  • सभी देशवासियों को मानसिक एवं शारीरिक रूप से फिट रहने हेतु इस अभियान को शुरू किया गया था। उद्देश्य
  • फिट इंडिया मूवमेंट का उद्देश्य प्रत्येक भारतीय को रोज़मर्रा के जीवन में फिट रहने के साधारण और आसान तरीके शामिल करने के लिये प्रेरित करना है। प्रगति
  • फिट इंडिया मूवमेंट ने अपने प्रभाव और प्रासंगिकता को कोरोना काल में भी सिद्ध करके दिखाया है।
  • एक साल के भीतर ही यह मूवमेंट आफ पीपल (movement of people) और मूवमेंट आफ पाजिटीविटी(movement of positivity) भी बन चुका है।
  • देश में स्वास्थ्य और फ़िटनेस को लेकर निरंतर जागरूकता भी बढ रही है । योग, आसन, व्यायाम, वॉकिंग, रनिंग, स्‍वीमिंग तथा स्वस्थ जीवन शैली के प्रति लोग जागरूक हो रहे हैं।

अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर

  • विश्व स्वास्थ्य संगठन ने ‘आहार, शारीरिक गतिविधि और स्वास्थ्य पर वैश्विक रणनीति’ (Global strategy on Diet, physical activity and health) बनाई है। वैश्विक स्तर पर शारीरिक गतिविधियों हेतु कई तरह की अनुशंसाएँ (recommendation) भी जारी की गयी हैं।
  • आज दुनिया के अनेक देशों ने फिटनेस को लेकर नए लक्ष्य बनाए हैं और उन पर अनेक मोर्चों पर वो काम कर रहे हैं । ऑस्ट्रेलिया, जर्मनी, ब्रिटेन, अमेरिका आदि देशों में इस समय बड़े पैमाने पर फिटनेस का अभियान चल रहा है।