यूपीएससी और सभी राज्य लोक सेवा आयोग परीक्षाओं के लिए हिंदी में डेली करेंट अफेयर्स (14 सितंबर 2020)

Daily Current Affairs for UPSC, IAS, UPPSC/UPPCS, BPSC, MPPSC, RPSC and All State PCS Examinations


यूपीएससी और सभी राज्य लोक सेवा आयोग परीक्षाओं के लिए हिंदी में डेली करेंट अफेयर्स

Daily Hindi Current Affairs for UPSC, IAS, UPPSC/UPPCS, BPSC, MPPSC, RPSC and All State PCS Examinations


तुलु भाषा

चर्चा में क्यों?

  • कर्नाटक स्थित मंगलौर विश्वविद्यालय के पूर्व वाइस चांसलर के. चिनप्पा दौड़ा और इतिहास के प्रोफ़ेसर बी. सुरेंद्र राव द्वारा तुलु भाषा की 50 आधुनिक कविताओं का अंग्रेजी में अनुवाद किया गया है।

तुलु भाषा का संक्षिप्त परिचय

  • तुलु एक द्रविड़ भाषा है जिसे बोलने वाले लोग दक्षिण भारत में रहते हैं।
  • पिछली जनगणना के अनुसार भारत में तुलु बोलने वाले लोगों की संख्या 18,47,427 है। जो कि आठवीं अनुसूची में सम्मिलित मणिपुरी और संस्कृत भाषा बोलने वाले लोग से भी ज्यादा है।
  • रोबर्ट काल्डवेल (1814-1891) ने द्रविड़ भाषाओं का एक तुलनात्मक व्याकरण लिखा था जिसमें बताया गया था कि तुलु द्रविड़ परिवार की सर्वाधिक विकसित भाषाओं में से एक है।
  • जिन क्षेत्रों में तुलु भाषा प्रधानतः बोली जाती है उसे बोलचाल की भाषा में तुलु नाडु कहा जाता है।
  • इसके अंतर्गत मुख्यतया कर्नाटक के दो तटीय ज़िले और केरल का कासरगोड ज़िला आता है।
  • केरल के कासरगोड जिले को सप्तभाषा संगम भूमि भी कहते हैं क्योंकि यहाँ तुलु समेत सात भाषाओं का संगम देखने को मिलता है।
  • वस्तुतः कासरगोड के साथ-साथ मंगलुरु और उडुपी नगर भी तुलु संस्कृति के गढ़ माने जाते हैं।

जी-20 कृषि और जल मंत्रियों की बैठक

चर्चा में क्यों?

  • जी-20 कृषि और जल मंत्रियों की वर्चुअल बैठक में जी-20 के सदस्य देशों और विशेष तौर पर आमंत्रित सदस्यों ने हिस्सा लिया। भारत की ओर से जल शक्ति मंत्री श्री गजेंद्र सिंह शेखावत और कृषि एवं किसान कल्याण राज्य मंत्री श्री परषोत्तम रूपाला बैठक में शामिल हुए।
  • गौरतलब है कि भारत दिसंबर 2020 से जी-20 ट्रोइका का हिस्सा होगा और दिसंबर 2021 से नवंबर 2022 तक जी-20 प्रेसिडेंसी की मेजबानी करेगा जब भारत की आजादी के 75 साल पूरे हो रहे होंगे।

जी-20 कृषि और जल मंत्रियों की बैठक से संबंधित जानकारी

  • वर्तमान में जी-20 की अध्यक्षता सऊदी अरब के द्वारा की जा रही है।
  • स्थायी और सशक्त जल प्रबंधन पर सऊदी प्रेसिडेंसी के तहत जी-20 में चर्चा की गई, जिससे सहयोग और पानी के विभिन्न पहलुओं पर जानकारी को साझा कर जी-20 फोरम में पानी से संबंधित गतिविधियों के प्रभावों को सुधारा जा सके।
  • गौरतलब है कि जी-20 मंच द्वारा प्रत्येक वर्ष देशों के कृषि एवं जल मंत्रियों की बैठक का आयोजन किया जाता है।

जी-20 समूह

  • G-20 बीस देशों का एक समूह है, जिसका गठन सितंबर 1999 में अंतरराष्ट्रीय वित्तीय स्थिरता को बनाए रखने के लिहाज़ से किया गया था।
  • साथ ही G–20 ब्रेटन वुड्स संस्थागत प्रणाली की रूपरेखा के भीतर आने वाले अहम् देशों के बीच अनौपचारिक बातचीत और सहयोग को बढ़ावा देने का काम भी करता है।
  • 1997 के पहले एशियाई संकट के बाद दुनिया के कई देशों ने इसकी ज़रूरत महसूस की।
  • G-20 बैठक में सदस्य देशों के प्रमुखों के साथ वित्त मंत्रियों और सेंट्रल बैंक के गवर्नर्स की भी बैठक होती है। इस बैठक में मुख्य रूप से आर्थिक विषयों पर चर्चा होती है।
  • जी-20 में 19 देश और यूरोपियन यूनियन शामिल हैं। 19 देशों में-
  • एशिया के 7 देश चीन, जापान, भारत, इंडोनेशिया, सऊदी अरब,दक्षिण कोरिया और तुर्की शामिल हैं।
  • उत्तरी अमेरिका से USA, कनाडा और मैक्सिको
  • दक्षिण अमेरिका से ब्राजील आये अर्जेंटीना
  • अफ्रीका से एकमात्र देश दक्षिण अफ्रीका
  • यूरोपीय यूनियन के अलावा जर्मनी, फ्रांस, इटली, रूस, यूनाइटेड किंगडम
  • ऑस्ट्रेलिया।

इजराइल और बहरीन शांति समझौता

चर्चा में क्यों?

  • हाल ही में इजराइल और खाड़ी देश बहरीन अपने संबंधों को पूरी तरह से सामान्य बनाने के लिए एक ऐतिहासिक समझौते करने पर सहमत हुए हैं।

पृष्ठभूमि

  • कई दशक से अरब देश, इजराइल का बहिष्कार कर रहे थे । उनका कहना था कि वे फिलिस्तीन विवाद के निपटारे के बाद ही अपने संबंधों को इजराइल से सामान्य करेंगे।
  • किन्तु पिछले कुछ दिनों में दो अरब देश ( संयुक्त अरब अमीरात और बहरीन ) इजराइल के साथ शांति समझौता करने पर सहमत हो गए हैं। इजराइल और बहरीन शांति समझौता के बारे
  • बताया जा रहा है कि इस समझौते की एक शर्त के रूप में इजराइली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने वेस्ट बैंक के एनेक्स सेक्शन के लिए अभी से योजना बनाने पर सहमति व्यक्त की है।
  • इस समझौते को करवाने में अमेरिका की प्रमुख भूमिका रही है।
  • अमेरिकी राष्ट्रपति के मुताबिक, यह शांति समझौता मिडिल ईस्ट के लिए एक ऐतिहासिक समझौता है। अच्छी अर्थव्यवस्था और डायनेमिक सोसाइटी वाले इन दोनों देशों (बहरीन और इजराइल) के बीच खुली बातचीत से क्षेत्र में एक अच्छा बदलाव आएगा। स्थिरता और सुरक्षा बढ़ेगी और समृद्धि आएगी।
  • 1948 में आजादी मिलने के बाद इजराइल का किसी अरब देश के साथ यह चौथा समझौता है। बहरीन के अतिरिक्त, इजराइल ऐसा समझौता यूएई, जॉर्डन और मिस्र के साथ कर चुका है।

बहरीन

  • बहरीन, फारस की खाड़ी में स्थित एक संप्रभु द्वीपीय राष्ट्र है। इस देश में लगभग 40 प्राकृतिक द्वीप और 51 कृत्रिम द्वीप हैं।
  • बहरीन, मध्य पूर्व के फारस की खाड़ी में सऊदी अरब के पूर्व में स्थित है।
  • क्षेत्रफल की दृष्टि से बहरीन, मालदीव और सिंगापुर के बाद एशिया का तीसरा सबसे छोटा देश है।
  • बहरीन की राजधानी मनामा है और यह इस देश का सबसे बड़ा शहर है।
  • बहरीन का राज्य धर्म इस्लाम है। यहाँ बहुसंख्यक आबादी शिया लोगों की है।
  • बहरीन वर्ष 1971 में स्वतंत्र हुआ था और यहाँ संवैधानिक राजतंत्र की स्थापना हुई है।

हिन्दी दिवस: 14 सितंबर

चर्चा में क्यों?

  • 14 सितंबर को पुरे राष्ट्रीय स्तर पर हिन्दी दिवस को मनाया ।

हिन्दी दिवस के बारे में

  • भारत की संविधान सभा द्वारा 14 सितंबर, 1949 को हिंदी को राजभाषा का दर्जा प्रदान किया गया था। इसके अतिरिक्त , इसी दिन संविधान के भाग-17 में हिन्दी से संबंधित महत्त्वपूर्ण प्रावधान भी किये गए थे।
  • संविधान सभा के इस निर्णय के बाद हिंदी भाषा को हर क्षेत्र में प्रसारित करने के लिये ‘राष्ट्रभाषा प्रचार समिति, वर्धा’ के आग्रह पर राष्ट्रीय स्तर पर वर्ष 1953 से 14 सितंबर को हर साल हिंदी दिवस के रूप में मनाया जाने लगा।
  • इस प्रकार पहला हिंदी दिवस 14 सितंबर 1953 को मनाया गया।
  • हिंदी को राजभाषा का दर्जा दिए जाने के बाद गैर हिंदी भाषी लोगों ने इसका विरोध किया, जिसके कारण अंग्रेजी को भी आधिकारिक भाषा बनाया गया।
  • उल्लेखनीय है कि हर वर्ष 10 जनवरी को ‘विश्व हिंदी दिवस’ मनाया जाता है। महत्व
  • हिंदी की समृद्धशाली परंपरा को आगे बढ़ाने के उद्देश्य से 14 सितंबर के दिन देशभर में कई कार्यक्रम और प्रतियोगिताएं कराई जाती हैं।
  • इस दिवस के आयोजन से हिंदी भाषा को प्रोत्साहन मिलता है।
  • हिंदी दिवस के अवसर पर हिंदी के प्रोत्साहन हेतु कई पुरस्कार प्रदान किये जाते हैं, यथा - राष्ट्रभाषा गौरव पुरस्कार , राजभाषा कीर्ति पुरस्कार आदि ।

राजभाषा कीर्ति पुरस्कार

  • राजभाषा कीर्ति पुरस्कार ऐसे विभाग को दिया जाता है जिसने वर्ष भर हिंदी भाषा में कार्य को बढ़ावा दिया हो।

राष्ट्रभाषा गौरव पुरस्कार

  • यह पुरस्कार, तकनीकी-विज्ञान लेखन हेतु दिया जाता है।

राष्ट्रभाषा प्रचार समिति

  • राष्ट्रभाषा प्रचार समिति की स्थापना 1936 में हुई थी और इसका मुख्य केंद्र महाराष्ट्र के वर्धा में था।
  • इस समिति के प्रमुख डॉ. राजेन्द्र प्रसाद, सुभाषचन्द्र बोस, महात्मा गाँधी, पं. जवाहरलाल नेहरू, राजर्षि पुरुषोत्तमदास टंडन, आचार्य नरेन्द्र देव आदि थे।
  • समिति के गठन के चार वर्ष बाद राष्ट्रभाषा प्रचार समिति ने सरकार से 14 सितंबर को हिंदी दिवस मनाने का अनुरोध किया। इस अनुरोध को स्वीकार कर लिया गया। इसके बाद से हर साल 14 सितंबर को हिंदी दिवस मनाया जाने लगा है।

राष्ट्रीय भाषा हिंदी से संबंधित महत्वपूर्ण तथ्य

  • संविधान के अनुच्छेद 343 (1) के अनुसार भारत की राजभाषा ‘हिंदी’ और लिपि ‘देवनागरी’ है।
  • गांधी जी ने हिंदी को जनमानस की भाषा कहा था। सन् 1918 में हिंदी साहित्य सम्मेलन में गांधी जी ने हिंदी को राष्ट्रीय भाषा बनाने को कहा था।
  • हिंदी विश्व में सबसे अधिक बोली जाने वाली पाँच भाषाओं में से एक है।