यूपीएससी परीक्षा के अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न UPSC (FAQs) - समाचार पत्र (Newspaper) कैसे पढ़ा जाना चाहिए? (How to Read a Newspaper?)


यूपीएससी, आई.ए.एस., सिविल सर्विसेज परीक्षा के अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न (एफएक्यू)

UPSC Frequently Asked Questions (FAQs)


समाचार पत्र (Newspaper) कैसे पढ़ा जाना चाहिए? (How to Read a Newspaper?)

कौन-सा समाचार पत्र (Newspaper) पढ़ा जाना चाहिए?

एक या दो स्तरीय न्यूजपेपर पर्याप्त होते है, उसकी भाषा और गुणवत्ता आधार होना चाहिए।

English - The Hindu and Indian Express

हिन्दी- दैनिक जागरण या भास्कर का राष्ट्रीय संस्करण, जनसत्ता।

राष्ट्रीय संस्करण- जो दिल्ली से निकलता है और उस पर राष्ट्रीय संस्करण लिखा होता है।

ये सारे पेपर इंटरनेट पर भी उपलब्ध है म्-चंचमत के नाम से ।

हिन्दी माध्यम के अभ्यर्थियों के लिए भी क्या ष्ज्ीम भ्पदकनष् छमूेचंचमत पढ़ना आवश्यक है?

नहीं, यह अनिवार्य नहीं, बहुत सारे उदाहरण हैं जिन्होंने ज्ीम भ्पदकन नहीं पढ़ा, ज्ीम भ्पदकन में स्थानीय न्यूज को महत्व न देकर राष्ट्रीय, अंतर्राष्ट्रीय और समसामायिक मुद्दों को प्राथमिकता देते है अतः यही विषय हमें जिस पेपर में मिले वह लाभदायक होगा।

समाचार पत्र (Newspaper) को किस प्रकार पढ़ा जाये?

वर्तमान घटनाक्रम को मुद्दों और विषय के साथ जोड़कर पढ़े, जिससे घटना की प्रासंगकिता पता चलेगी।

किसी भी मुद्दे को पाठ्यक्रम के अलग-अलग भाग से जोड़ने का प्रयास करें, जिससे आपकी तैयारी बेहतर होगी, क्योंकि अधिकांश प्रश्न समसामायिक मुद्दों से संबंधित होते है।

कुछ न्यूज जो लगातार आते है उसे ध्यान में रखें और अंततः जो निष्कर्ष प्राप्त हो उसे नोट करे लें और उन्हें प्रारम्भिक व मुख्य परीक्षा के अनुसार पाठ्यक्रम से जोड़ कर पढ़ें।

घटनाओं के प्रमुख तथ्यों को लिख सकते है जो तैयारी में लाभदायक साबित होगा।

घटनाओं को एक रजिस्टर में राष्ट्रीय, अंतर्राष्ट्रीय आर्थिकी तथा पर्यावरण पारिस्थितिकी को अलग-अलग प्रश्नपत्र के अनुसार लिख सकते है, परीक्षा के दौरान बहुत लाभदायी होगा।

महत्वपूर्ण संपादकीय को ब्नज करके या महत्वपूर्ण बिन्दु पर छवजमे बना सकते है जो कि निबंध और मुख्य परीक्षा में महत्वपूर्ण साबित हो सकता है।

<< मुख्य पृष्ठ पर वापस जाने के लिये यहां क्लिक करें